मंगलवार, जुलाई 10, 2018

दिल हुआ रंगरेज देखो, इन दिनों - डॉ शरद सिंह


Shayari of Dr (Miss) Sharad Singh
दिल हुआ रंगरेज देखो, इन दिनों
रंग रहा है इश्क़ की चादर यहां
छत नहीं, दीवार न हो, न हो दर भी
है वहीं घर, ढाई हों आखर जहां
- डॉ शरद सिंह


#SharadSingh #Shayari #Ghazal
#World_Of_Emotions_By_Sharad_Singh #दिल #रंगरेज #इश्क़ #चादर #छत #दीवार #ढाईआखर




1 टिप्पणी: