सोमवार, दिसंबर 24, 2012

ज़िन्दगी आहत खड़ी है ......


8 टिप्‍पणियां:

  1. वाह ...शब्द सब्द कीमती ....बहुत सुन्दर

    उत्तर देंहटाएं