मंगलवार, जून 26, 2012

कौन देगा प्यार ....


17 टिप्‍पणियां:

  1. मन को प्रभावित करती सुंदर चित्रमय अभिव्यक्ति ,,,,,

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत ही अच्‍छी प्रस्‍तुति।

    उत्तर देंहटाएं
  3. सीरत हो तो सूरत की कोई औकात नहीं
    खुद में हीन होने की कोई बात नहीं ।

    सुंदर प्रस्तुति

    उत्तर देंहटाएं
  4. आधी आबादी यहाँ, रविकर जैसे लोग ।
    कुरूपता का दंश यूँ, नियमित लेते भोग ।
    नियमित लेते भोग, मगर भरपाई करते ।
    मानवता के लिए, जीये फिर झटपट मरते ।
    सुन्दर चेहरेदार, मगर सामाजिक व्याधी ।
    खुद तो करते मौज, तड़पती दुनिया आधी ।

    उत्तर देंहटाएं
  5. kisi ko soorat kisi ko seerat bhati hai
    soorat heen soorath bhee mukaam banati hai
    seerat na ho to soorat vyarth jaati hai
    seerat he maa durga aaur mother teresa ke aage jhukati hai
    sadar badhayee ke sath

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत ही अच्‍छी प्रस्‍तुति

    उत्तर देंहटाएं
  7. तेरी सूरत का तलबगार दुनियां होगा ,
    मै तो तेरी सीरत से प्यार करता हूँ

    लेखन में विविधता का अनुपम संगम ,
    अब कहाँ खुबसूरत चेहरे का चुनाव , यहाँ भावनाओं के सम्प्रेषण का अद्भुत संजोग .
    बहुत मुश्किल होता है झट से कुछ भी कह देना

    उत्तर देंहटाएं
  8. सत्यम शिवम सुंदरम ....
    सुंदर प्रस्तुति ...

    उत्तर देंहटाएं
  9. काले हैं तो क्या हुआ दिलवाले हैं...
    सुंदर प्रस्तुति !!

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत अच्छी प्रस्तुति!
    इस प्रविष्टी की चर्चा आज बुधवार के चर्चा मंच पर भी होगी!
    सूचनार्थ!

    उत्तर देंहटाएं
  11. मन के भावो को शब्द दे दिए आपने......

    उत्तर देंहटाएं
  12. चाह मन से उठती है और उतनी ही मात्रा में लौटकर आती है..

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत ही सशक्त शब्द रचना, शुभकामनाएं.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं