24 August, 2018

प्यार की सौगंध भी क्या चीज़ है.... डॉ शरद सिंह

Shayari of Dr Sharad Singh

बांह का तकिया लगा कर सिर टिकाए
हम  विचारों  के   नगर में   घूम आए
प्यार  की   सौगंध    भी क्या चीज़ है
हो भले झूठी, मगर  फिर भी  लुभाए
- डॉ शरद सिंह

(मेरे ग़ज़ल संग्रह ‘पतझर में भीग रही लड़की’ से)

#SharadSingh #Shayari #Ghazal
#World_Of_Emotions_By_Sharad_Singh

3 comments: