मंगलवार, जुलाई 25, 2017

किसी की याद में .... डॉ. शरद सिंह

Poetry of Dr (Miss) Sharad Singh

किसी की याद में
-----------------
शाम का सूरज फिसला है
माथे से
बिंदी की तरह
और सूना हो गया मेरा मन
किसी की याद में

2 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत ही बेह्तरीन उपमा, शुभकामनाएं.
    रामराम
    #हिन्दी_ब्लॉगिंग

    उत्तर देंहटाएं
  2. हार्दिक आभार ताऊ रामपुरिया जी !

    उत्तर देंहटाएं