शुक्रवार, मार्च 13, 2015

Discussion with 'Masala Dosa' ...साहित्य का स्वादिष्ट परिवेश...

Discussion with 'Masala Dosa' ...साहित्य का स्वादिष्ट परिवेश...Dr (Miss) Sharad Singh
 Discussion with 'Masala Dosa' 
- Dr Sharad Singh

Discussion with 'Masala Dosa' ...साहित्य का स्वादिष्ट परिवेश...Dr (Miss) Sharad Singh
 
कॉफी हाउस साहित्य और कॉफी हाउस चर्चा बीते दिनों की बातें हो गई हैं...इस लिए क्यों न हो जाए मसाला डोसा के साथ चर्चा.....
                
Discussion with 'Masala Dosa' ...साहित्य का स्वादिष्ट परिवेश...Dr (Miss) Sharad Singh
कभी नारियल चटनी-सी नमकीन चर्चा....
तो कभी सांभर-सी चटपटी बातें.....

Discussion with 'Masala Dosa' ...साहित्य का स्वादिष्ट परिवेश...Dr (Miss) Sharad Singh
तो कभी छुरी-कांटे सी बहस.....

Discussion with 'Masala Dosa' ...साहित्य का स्वादिष्ट परिवेश...Dr (Miss) Sharad Singh

मसाले का स्वाद और डोसे का कुरकुरापन साहित्य चिंतन को स्वादिष्ट बना ही देता है...
आशा हेै कि साहित्य का ये स्वादिष्ट परिवेश मित्रों को पसंद आएगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें