शनिवार, फ़रवरी 16, 2013

यादों की डिबिया में ...


9 टिप्‍पणियां:

  1. सुंदर ................सुंदर चित्र के साथ

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बढ़िया है डाक्टर साहिबा -
    आभार इन पंक्तियों में भरे गूढ़ भावों के लिए -
    सादर

    डिबिया में सिंदूर सम, रखते पावन भाव |
    बड़े चाव से मन करे, अपना नित्य अघाव |

    अपना नित्य अघाव, प्रेम ही मूल-मन्त्र है |
    सब बंधन से परे, हमेशा ही स्वतंत्र है |

    शब्द लिखे उन्नीस, भाव पर बीस दिखा है |
    जीने का अंदाज, पुन: तू गई सिखा है ||

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत खुबसूरत .दिल को छू लेने वाली

    उत्तर देंहटाएं
  4. जिसका प्रेम छुपाया है उसकी खातिर इतना तो करना बनता ही है ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. ये तो है.....दर्दभरी मुस्कुान हो या प्रेम भरी..मुस्कान तो उसके नाम पर आएगी ही

    उत्तर देंहटाएं