बुधवार, मार्च 01, 2017

चला आए यूं आंखों में ...

Shayari of Dr (Miss) Sharad Singh

कोई दस्तक, कोई आहट, चमक लाए यूं आंखों में
हक़ीकत बन के इक सपना चला आए यूं आंखों में
- डॉ शरद सिंह

#Shayari #SharadSingh

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें