08 March, 2015

पूरी स्त्री है....

Women's Day Poem by Dr Sharad Singh

2 comments:

  1. सटीक और सारगर्भित पंक्तियाँ

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद कुशवंश जी....

      Delete