शुक्रवार, अप्रैल 13, 2012

इस बैसाखी में.....


30 टिप्‍पणियां:

  1. बैसाखी कि आपको भी शुभकामनायें ...!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. बैसाखी की शुभकामनाएँ.
    खुशियों का गुणनफल बढ़ता रहे...

    उत्तर देंहटाएं
  3. वैशाखी की शुभकामनायें |
    बढ़िया प्रस्तुति |

    उत्तर देंहटाएं
  4. वाह ... बहुत खूब ...सुन्दर प्रस्तुति.
    बैसाखी के पर्व पर हार्दिक शुभकामनाएं.

    !!आपका स्वागत है!! !!यहाँ पर भी आयें!!

    Active Life Blog

    उत्तर देंहटाएं
  5. बैसाखी की हार्दिक शुभकामनाएँ आपको भी...सुंदर पंक्तियाँ ॥

    उत्तर देंहटाएं
  6. आपको भी बैसाखी की हार्दिक शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  7. बैसाखी खुशियों का त्यौहार है...आपकी खुशियाँ ऐसे ही दिन दुनी रात चौगुनी बढें...शुभकामनाएं...

    उत्तर देंहटाएं
  8. शरद जी वैशाखी की बधाई और शुभकामनायें |

    उत्तर देंहटाएं
  9. शरद जी इतनी सुंदर व मधुर वैशाखी की शुभकामना व स्वागत । आपको हार्दिक शुभकामनायें ।

    उत्तर देंहटाएं
  10. आपको भी वैशाखी पर्व की शुभकामनाएँ...

    उत्तर देंहटाएं
  11. आपकी सभी प्रस्तुतियां संग्रहणीय हैं। .बेहतरीन पोस्ट .
    मेरा मनोबल बढ़ाने के लिए के लिए
    अपना कीमती समय निकाल कर मेरी नई पोस्ट मेरा नसीब जरुर आये
    दिनेश पारीक
    http://dineshpareek19.blogspot.in/2012/04/blog-post.html

    उत्तर देंहटाएं
  12. seedha sade shabdon men seddhi baat...uttam bhavpurna panktiyan..bahut bahut badhai

    उत्तर देंहटाएं
  13. आपको भी वैशाखी पर्व की शुभकामनाएँ
    अति सुन्दर , कृपया इसका अवलोकन करें vijay9: आधे अधूरे सच के साथ .....

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत बढ़िया चित्र मय प्रस्तुति,

    आपको भी वैशाखी पर्व की शुभकामनाएँ...

    आपका फालोवर बन गया हूँ,आप भी बने मुझे हार्दिक खुशी होगी....
    शरद जी..आभार

    MY RECENT POST काव्यान्जलि ...: कवि,...

    उत्तर देंहटाएं
  15. माफ़ी चाहूंगी आप के ब्लॉग मे आप की रचनाओ के लिए नहीं अपने लिए सहयोग के लिए आई हूँ | मैं जागरण जगंशन मे लिखती हूँ | वहाँ से किसी ने मेरी रचना चुरा के अपने ब्लॉग मे पोस्ट किया है और वहाँ आप का कमेन्ट भी पढ़ा |मैंने उन महाशय के ब्लॉग मे कमेन्ट तो किया है मगर वो जब चोरी कर सकते है तो कमेन्ट को भी डिलीट कर सकते है |मेरा मकसद सिर्फ उस चोर के चेहरे से नकाब उठाने का है | आप से सहयोग की उम्मीद है | लिंक दे रही हूँ अपना भी और उन चोर महाशय का भी
    http://div81.jagranjunction.com/author/div81/page/4/


    http://kuchtumkahokuchmekahu.blogspot.in/2011/03/blog-post_557.html

    उत्तर देंहटाएं
  16. meri dost ki taraf se ek msg :
    माफ़ी चाहूंगी आप के ब्लॉग मे आप की रचनाओ के लिए नहीं अपने लिए सहयोग के लिए आई हूँ | मैं जागरण जगंशन मे लिखती हूँ | वहाँ से किसी ने मेरी रचना चुरा के अपने ब्लॉग मे पोस्ट किया है और वहाँ आप का कमेन्ट भी पढ़ा |मैंने उन महाशय के ब्लॉग मे कमेन्ट तो किया है मगर वो जब चोरी कर सकते है तो कमेन्ट को भी डिलीट कर सकते है |मेरा मकसद सिर्फ उस चोर के चेहरे से नकाब उठाने का है | आप से सहयोग की उम्मीद है | लिंक दे रही हूँ अपना भी और उन चोर महाशय का भी
    http://div81.jagranjunction.com/author/div81/page/4/


    http://kuchtumkahokuchmekahu.blogspot.in/2011/03/blog-post_557.html

    प्रत्‍युत्तर दें

    उत्तर देंहटाएं